विश्व स्वास्थ्य दिवस पर साईं इंस्टीट्यूट में सार्वभौमिक स्वास्थ्य विषय पर जागरूकता व्याख्यान

विश्व स्वास्थ्य दिवस पर साईं इंस्टीट्यूट में सार्वभौमिक स्वास्थ्य विषय पर जागरूकता व्याख्यान

साईं इंस्टिट्यूट ऑफ पैरामेडिकल एंड एलाइड साइंसेस विश्व स्वास्थ्य दिवस के अवसर पर स्वास्थ्य सम्बंधित बढ़ती समस्याओं के प्रति जागरुक करने के लिए सार्वभौमिक स्वास्थ्य विषय पर व्याख्यान आयोजित किया गया। कार्यक्रम की मुख्य अतिथि जानी-मानी स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ सुजाता संजय रही, उन्होंने उपस्थित छात्र एवम छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा कि आज कई बीमारियां अचानक ही हो जाती हैं लेकिन यह बीमारियां डायग्नोज़ होने में लंबा समय लेते लेती है जिनकी पहचान लंबे समय बाद होती है जैसे सर्वाइकल कैंसर आजकल बहुत फैलता जा रहा है इस अवसर पर मौजूद संस्थान के चेयरमैन श्री हरीश अरोड़ा ने कहा कि आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में स्वास्थ्य पर कम ही लोग ध्यान देते हैं यही कारण है कि जो बीमारियां साठ की उम्र के पार होती थी वही बीमारियां अब 30 की उम्र में होने लगे हैं उन्होंने कहा कि हमें अपने शरीर के प्रति सतर्क रहना होगा इस अवसर पर संस्थान के वॉइस चेयर पर्सन श्रीमती रानी अरोड़ा ने कहा कि महिलाओं को अपने स्वास्थ्य की नियमित जांच करते रहना चाहिए उन्हें अधिक संवेदनशील होने की आवश्यकता है इस अवसर पर संस्थान के सीईओ रणबीर मलिक डीन डॉक्टर बी डी शर्मा, प्रिंसिपल डॉक्टर संजय डोगरा, डॉ कार्तिकेय के साथ ही भारी संख्या में छात्र छात्राओं के साथ ही स्टाफ भी मौजूद रहा।

अमेरिकी डलास विश्वविद्यालय के साथ साईं ग्रुप ऑफ़ इंस्टिट्यूशन का करार

साईं इंस्टिट्यूट ने विदेशी विश्वविद्यालय से मिलाया हाथ साईं ग्रुप ऑफ़ इंस्टिट्यूशन ने अमेरिका के अग्रणी विश्वविद्यालय डलास विश्वविद्यालय के साथ छात्रों के हित में करार किया है संस्थान ने विश्वविद्यालय के मध्य हुए करार की जानकारी देते हुए ग्रुप के सीईओ श्री रणवीर मलिक ने बताया कि छात्रों को व्यवसायिक और बहुराष्ट्रीय स्तर पर प्रतियोगितात्मक वातावरण देने के लिए विदेशी विश्वविद्यालय के छात्रों को यहां आमंत्रित किया गया है और अपने छात्रों को वहां भेजा जाएगा इसके बाद टीचर्स लीडरशिप कार्यक्रम भी चलाया जाएगा इस अवसर पर संस्थान के चेयरमैन श्री हरीश अरोड़ा वाइस चेयरपर्सन श्रीमती रानी अरोड़ा दिन डॉक्टर बी डी शर्मा प्रिंसिपल डॉ संध्या डोगरा के साथ ही डलास बैपटिस्ट विश्वविद्यालय टेक्सास संयुक्त राज्य अमेरिका के ट्रस्टी डॉ पुरुषोत्तम मौजूद रहे।

%d bloggers like this: