विक्षिप्त महिला के विषय में कोई गंभीर नहीं

देहरादून। गौचर क्षेत्र में एक विक्षिप्त महिला है, जिसके गर्भवती होने की आशंका है। इस विषय में जिलाधिकारी चमोली को पत्र द्वारा सूचित किया गया। लेकिन कोई ठोस परिणाम सामने नहीं आया। यह मामला मुख्यमंत्री के संज्ञान में लाया जा चुका है।
प्रेस क्लब में प्रेसवार्ता में शशि भूषण मैठाणी ने कहा कि गौचर क्षेत्र में एक विक्षिप्त महिला जो गर्भवती लग रही है। उन्होंने कहा कि महिला के विषय में जिलाधिकारी को पत्र व फोन से अवगत कराया गया है। एक महीने से अधिक समय बीतने के बाद भी इस ओर कोई कार्रवाई नहीं की गई है। शशि भूषण ने कहा कि मैंने जिलाधिकारी से महिला के इलाज व मेडिकल जांच कराने में सहयोग देने की मांग की थी। वह जिलाधिकारी ने नहीं किया। उनका कहा है कि इस सम्बन्ध में मुख्यमंत्री को भी मेल भेजकर सूचित करने कर चुका हूं। मुख्यमंत्री के यहां से मुझे कोई जवाब नहीं मिला है।
वहीं जब विषय पर जिलाधिकारी चमोली से बात की गई तो उन्होंने कहा कि किसी विक्षिप्त महिला के विषय में मुझे जानकारी मिली थी और मैंने एसडीएम को रिपोर्ट देने को कहा था। जो अभी मुझे नहीं मिली है। साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि अब वह महिला मेरे जनपद में नहीं। वह श्रीनगर में है। लेकिन वह भी बताने असमर्थ रहे कि कब मुझे यह जानकारी मिली और कब से वह महिला चमोली जनपद में नहीं। हां, वह श्रीनगर में है यह उन्होंने जरूर बताया है। उन्होंने यह भी बताया कि शशि भूषण मैठाणी ने उक्त महिला की सुपुर्दगी मांगी थी। जो मैंने नहीं दी है। मैंने उनसे कहा मैं प्रशासन के माध्यम से महिला को नारी निकेतन भेजने की व्यवस्था करूंगा।
अब सवाल यह नहीं हैं कौन क्या कह रहा है। चिंताजनक विषय यह है कि वह महिला कौन है? कहां की है? चमोली जनपद में कैसे पहुंची? यह क्षेत्र सामरिक दृष्टि से बहुत संवेदनशील है। इस लिहाज से भी मामले को गंभीरता से लिया जाना चाहिए था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *