भगवान् सिंह

जयपुर में छेत्रवार लगाई जाएंगी उत्तराखण्डी भाषा की कक्षाएं

               जयपुर 02 जून: राष्ट्रीय उत्तराखंड सभा (भारत) के कार्यक्रम के तहत सभा की राजस्थान प्रदेश इकाई द्वारा रावत सीनियर सेकंडरी स्कूल विवेक विहार में एक बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें राजस्थान प्रदेश में रहने वाले सभी उन उत्तराखण्डीयों का आह्वान किया गया जिन्हें अपनी भाषा का उपयुक्त ज्ञान नहीं है या उनके आम बोल चाल के प्रचलन में प्रयोग नही की जाती है उनके लिए छेत्रवार कक्षाएं चलाकर उत्तराखण्डी भाषा को सिखाया जाएगा।
          कार्यक्रम के मुख्य अतिथि राष्ट्रीय उत्तराखण्ड सभा के राष्ट्रीय मुख्य संयोजक व राष्ट्रीय भाषा प्रचार प्रसार समिति के अध्यक्ष डॉ बिहारिलाल जलंधरी एवं अतिथि श्री प्रकाश चन्द खुल्बे राष्ट्रीय उपाध्याय थे जिनका स्वागत प्रदेश अध्यक्ष श्री बी एस रावत ने किया, प्रदेश महासचिव श्री प्रहलाद सिंह अधिकारी ने कार्यक्रम की जानकारी उपस्थित समाज के सेकड़ों बच्चों व उनके अभिभावकों को दी। डॉ जलन्धरी ने पाठ्यक्रम के सिलेबस को समझाने से पहले सभी से प्रार्थना और प्रतिज्ञा करवायी। प्रदेश में भाषा की कक्षाएं किस प्रकार चलाई जाएंगी, उस पूरे पाठ्यक्रम के संबंध में पूरी जानकारी देते हुए मार्गदर्शन किया।तथा राजस्थान में रह रहे सभी उत्तराखण्डियों के साथ नौनिहालों को अपनी बोली-भाषा सीखने व सिखाने के लिए आह्वान किया।
                      सभा के इस प्रयास के तहत गढ़वाल-कुमाऊ की भाषा की कक्षाएं कई स्थानों में एक ही समय में, एक ही कक्षा में दोनों क्षेत्रों की भाषा को सीखाया व समझाया जाएगा। कक्षाएं क्रमशः 1 से 5 और 6 से 10 तक के विद्यार्थियों के लिए अलग अलग लगाई जाएंगी। छेत्रवार अध्ययन केन्द्रों का संचालन 09 जून से होगा, जो श्री महावीर सिंह पटवाल, अध्यक्ष भाषा प्रचार प्रसार समिति राजस्थान प्रदेश के निर्देशन में होगा। राजस्थान प्रदेश भाषा प्रचार प्रसार समिति के सदस्य व भाषा का अध्यापन कराने वाले अध्यापक सर्व श्री एस एस रावत, चंडी प्रशाद गौरेला, अर्जुन सिंह, प्रेम बल्लभ खुल्वे, भगत सिंह पटवाल के सहयोग से कक्षाएं संचालित होंगी।

             सभा की राजस्थान इकाई की प्रदेश भाषा प्रचार प्रसार समिति के अध्यक्ष श्री महावीर पटवाल ने उपस्थित सभी अतिथियों, पदाधिकारियों व गणमान्य जनों का धन्यवाद ज्ञापित किया।

                     कार्यक्रम में सभा की प्रदेश इकाई के सभी प्रकोष्ठों के सभी मुख्य पदाधिकारी व सक्रिय सदस्य सामिल उपस्थित हुए। मात्रशक्ति में सर्व श्रीमती दीप्ति गैरोरा, डा. सुमन विष्ट, बीना पंत, सरिता बलूनी, ज्योति नेगी, दीपा जोशी, आशा रावत, उमा खुल्वे, बबीता रमोला, रीटा पांडे, अनीता पटवाल, दीपा पंत, चेतना कंडारी, आनंद पांडे, शिशुपाल सिह रावत, त्रिभुवन पांडे, पूरन सिंह रावत, कुलदीप सिंह रावत, पदम सिंह रावत, परमेश सिंह चौहान, जसंवत सिह, हरि सिंह, ललित शर्मा,जगदीश भट्ट, रघुवीर सिंह बिष्ट, भगत सिंह पटवाल आदि उपस्थित हुए। मंच संचालन प्रदेश महासचिव प्रहलाद सिंह अधिकारी एवं संगठन मंत्री आनंद बल्लभ पाण्डेय ने किया।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.