माननीयों के आशियानों पर 59 लाख रुपये का भुगतान बकाया

माननीयों के आशियानों पर 59 लाख रुपये का भुगतान बकाया

देहरादून,उत्तराखंड में पूर्व मुख्यमंत्रियों के आशियानों की बत्ती तो बदस्तूर रोशन हैं,लेकिन उनका 59 लाख रुपये का बिजली बिल भुगतान अभी भी बकाया है। ग़ौरतलब है कि इन आशियानों में कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी दोनों ही पार्टियों के  क़द्दावर नेता निवास कर रहे हैं।

वहीँ इस पर उत्तराखंड पावर काॅरपोरेशन के आला अधिकारी माननीयों की रसूक के कारण टिका टिपण्णी करने से बचते नज़र आ रहे है,अधिकारियों की माने तो उनका कहना है कि राज्य सम्पत्ति विभाग को भुगतान बकाया होने का रिमाइंडर भेजा जा चुका है । कनेक्शन राज्य सम्पत्ति विभाग के नाम से है।वहीँ यूपीसीएल के प्रवक्ता पी सी ध्यानी का कहना है कि चार पूर्व मुख्यमंत्रियों के आवासों पर बीते सितंबर महीने तक 59 लाख रुपये का बिल बकाया है।

आइये आपको बता दें कि किन किन माननीयों के आशियानों पर उत्तराखंड पावर काॅरपोरेशन की बकायेदारी है।
भगत सिंह कोश्यारी, बीजेपी 10.79 लाख रुपये
नारायण दत्त तिवारी, कांग्रेस 13.63 लाख रुपये
भुवन चंद्र खंडूरी, बीजेपी 31.52 लाख रुपये
डॉ  रमेश पोखरियाल निशंक, बीजेपी 4.56 लाख रुपये

अब सवाल ये उठता है कि अगर आम उपभोक्ता के बिल ना जमा करने पर यूपीसीएल तत्काल कार्यवाही कर उनके घर की बत्ती गुल करने में ज़रा भी संकोच नहीं करता है तो भला 59 लाख रुपये की देनदारी के पूर्व बावजूद  केमाननीयों के आशियानों के बिल की वसूली में दरियादिली क्यों दिखाई जा रही है?

वहीँ इस पर यूपीसीएल प्रवक्ता पी सी ध्यानी की मानें तो उनका साफ़ कहना है कि कनेक्शन राज्य सम्पत्ति विभाग के नाम है,इसलिए हम सीधे माननीयों को तकादा नहीं कर सकते लेकिन राज्य सम्पत्ति विभाग को रिमाइंडर भेज दिया गया है। मतलब बात साफ़ है कि हाई प्रोफाइल लोगों से बिल वसूली में कानूनी पेचीदगियां हैं लेकिन वहीँ आम उपभोक्ता को सजा देने मेंज़रा भी विलम्भ नहीं।
तो क्या सरकारी बंगलों में रह रहे उत्तराखंड के माननीयों की इतनी तो  जिम्मेदारी बनती है कि वो सुनिश्चित कराएं कि उनके बिलों का भुगतान समय पर हो रहा है या नहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *