पेड़ एक फ़ायदे अनेकअशोक वृक्ष 

Tree one benefit many ashoka tree
Advertisements
Loading...

आप कभी भी खुले वातावरण में निकले तो आपको देखने को मिलेगा की हमारा नेचर (पर्यावरण) हमको क्या कुछ नहीं देता है, खुली हवा, हरियाली और शीतलता… नेचर यानि हमारा पर्यावरण, एक ऐसा वरदान है जिसकी हम लोगों ने कभी कदर ही नहीं की,पर अब जब नुक्सान उठाना शुरू किया तो इसकी उपयोगिता भी समझ आने लगी है…

अब जब बात उपयोगिताओं की आयी है तो इसी क्रम में हम एक ऐसी बात बताना चाहते हैं, जो आप सभी के लिए बहुत उपयोगी साबित हो सकती है, जिसका प्रमुख कारण है की ये पेड़ – पौधे सिर्फ शीतलता ही नहीं बल्कि बहुत से औषिधीय गुरों से भरपूर हैं,बहुत सी समस्याओं का इलाज हमारी इसी प्रकृति में छुपा हुआ है, आते – जाते आपने आस पास बहुत से पेड़- पौधों को देखा होगा, हमारे ये ही पेड़ पौधे पुरातन काल से हमको सिर्फ हवा ही नहीं , सुगंध, फूल आदि और ना जाने क्या क्या ,हर एक पेड़ के सभी फूल,पत्तियाँ,छाल,जड़ में कोई न कोई औषिधीय गुण विद्यमान होता है,उन्ही में से आज हम ऐसे ही एक पेड़ की चर्चा करेंगे और वो है —- अशोक का पेड़ 

अशोक का पेड़ कई पोषक तत्वों से भरा होता है, जिसकी वजह से ये पेड़ छोटी से छोटी से लेकर कई गंभीर समस्याओं के लिए भी अचूक सिद्ध हुआ है, आईये, नज़र डालते हैं इसके पोषक तत्वों पर जिससे आप सबको जानकार ताज्जुब होगा 

अशोक के पेड़ में पाए जाने वाले पोषक तत्त्व:

कार्बोहाइड्रेट्स

अल्कॅलॉइड्स

प्रोटीन

टनीन

स्टेरॉयड

फ्लवोनोइड्स

ग्लाइकोसाइड 

आईये अब विस्तार से जानते हैं इसके फायदे और किन परेशानियों में इसके इस्तेमाल से आराम मिल सकता है…( डाक्टरी परामर्श ज़रूरी है)

१. दर्द से राहत : रिसर्च के द्वारा पता चला है की अशोक के पेड़ में फ्लवोनोइड्स नामक तत्त्व पाया जाता है जो की एंटी इन्फ्लैमटॉरी और एंटी पएरेटिक ( फीवर में सहायक होता है )और एनाल्जेसिक , जो की दर्द निवारक होती है, अशोक की छाल का उपयोग दर्द से राहत देता है 

२. डाईबेटिस को कण्ट्रोल करता है: अशोक के पेड़ के फूलों में हइपोग्लीसेमिक (ब्लड शुगर कम करने वाला) वाला ऐसा तत्त्व होता है जो की शरीर में मौजूद इन्सुलिन की सक्रियता को बढ़ा देता है जिससे शुगर की मात्रा को कण्ट्रोल कर देता है

३. इंफेक्शन से बचाता है: अशोक के पेड़ में मौजूद फ्लेवियनोइड्स की मौजूदगी एंटी माइक्रोबियल ( बैक्टीरिया के संक्रमण से बचाता है) को बढ़ावा देता है जिसकी वजह से इन्फेक्शन्स से बचाओ होता है 

४. डायरिया में कारगर: अशोक के फूलों का रस डायरिया से बचाव देता है और काफी फायदेमन्द होता है, पेड़ की छाल में दर्द निवारक गुण होते हैं जिससे पेट दर्द में आराम होता है, साथ ही पेट के कीड़े को भी दूर करने में सहायक होती है, ये भी कह सकते हैं की पेट की सभी समस्याओं का निराकरण संभव है अशोक से 

५. हड्डियों को जोड़ने में सहायक: पेड़ की छाल में फ्लेवियनोइड्स और टनीन,एनाल्जेसिक पाए जाते हैं,ये सहायक होते हैं हड्डी जोड़ने में साथ ही,पत्तों और छाल का लेप सूजन में सहायक होती हैं

६. पथरी ( किडनी) में सहायक: अशोक के बीज,छाल,और जड़ों का चूर्ण लेने से पथरी को गलाने का काम करता है,एंटी ऑक्सीडेंट्स और फ्लेवियनोइड्स किडनी के सभी हानिकारक कारणों को काम कर राहत दिलाता है.

७.स्किन का रंग निखारता है: फूलों का अर्क स्किन का रंग निखारता है और दाग धब्बे मिटाता है

८. स्त्री रोगों में सहायक: अनियमित मासिक स्त्राव , मासिक चक्र में असहनीय दर्द, पेल्विक मसल्स में दर्द की समस्या, गर्भ धारण में थोड़ी मुश्किलें जैसी तकलीफों में अशोक के पेड़ बहुत फायदेमंद है, हालाँकि अभी शोध चल रहा है.

अशोक के पेड़ के नुक्सान: 

किसी भी चीज़ का निश्चित मात्रा से ज़्यादा सेवन हमेशा हानिकारक होता है, बिना डाक्टरी सलाह के इन सब चीज़ों का इस्तेमाल हानिकारक होता है…

मासिक धर्म ना होने की स्तिथि में इसका सेवन स्तिथि और बिगाड़ सकता है  

गर्भवती महिलाओं को सर्वदा मना होता है 

हाई ब्लड प्रेशर से पीड़ित लोगों को डॉक्टर्स से पूछ कर ही लेना चाहिए

हमारी कोशिश ये है की हम आप सबको अशोक के पेड़ के औषदीये गुणों और उसके इस्तेमाल के तरीकों को बताएं , मुमकिन है की ये जानकारी कहीं न कहींआपकी मदद कर सकता है 

Digiprove sealCopyright secured by Digiprove © 2019 Press Mirchi
Loading...
All Rights Reserved

Loading...

Loading...
Loading...
Loading...

Loading...
Loading...

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: