सिमी आतंकियों की मुठभेड़ पर हो रही है घटिया राजनीति

सिमी आतंकियों की मुठभेड़ पर हो रही है घटिया राजनीति: वैंकेया

नई दिल्ली, केन्द्रीय मंत्री एम वैंकेया नायडू ने मंगलवार को  कहा कि कुछ लोग सिमी आतंकियों की मुठभेड़ पर घटिया राजनीति कर रहे हैं और इसे धार्मिक रंग देने का प्रयास कर रहे हैं।

उन्होंने कहा, कुछ लोगों को आतंकियों की चिंता है, कुछ को सिमी की चिंता है, कुछ लोगों को उन लोगों की चिंता है जो जेल से भाग गए हैं उन लोगों की चिंता है जो हमेशा कानून तोड़ते हैं। ये लोग उन लोगों के बारे में ज्यादा चिंता जता रहे हैं बजाए भारतीयों की सुरक्षा और भारत एक राष्ट्र की चिंता करने के। कुछ लोगों की  ऐसा करने की आदत बन गई है। नायडू ने कहा कि अब कुछ लोग इसे सांप्रदायिक रंग दे रहे हैं।’’

नायडू ने कहा कि कुछ दिन पहले आंध्र ओड़िशा सीमा पर 28 से 29 माओवादी मारे गए। उस समय किसी ने उनकी जाति के बारे में नहीं कहा न ही उनके धर्म के बारे में पूछा लेकिन आज आचानक धर्म के बारे में बात हो रही है। यह घटिया राजनीति है और हमें इससे बचना चाहिए।

उल्लेखनीय है कि स्टूडेंट इस्लामिक मूवमेंट आॅफ इंडिया (सिमी) के फरार हुए 8 आतंकी को मध्यप्रदेश पुलिस ने  मार गिराया। यह सभी आतंकी भोपाल सेंट्रल जेल से फरार हुए थे। 9 घंटे के भीतर ही पुलिस ने उनका एनकाउंटर कर दिया। बता दें कि मध्य प्रदेश के खंडवा से सिमी आतंकी 3 साल पहले भी ऐसे ही जेल से फरार हो गए थे। इनके ऊपर देशद्रोह का मुकदमा चल रहा था। इस बार भागने वाले आतंकियों में वे 3 आतंकी भी शामिल थे, जो 2013 में खंडवा जेल से भाग चुके थे।

prakash

वहीँ इस मुददे पर माक्र्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के नेता प्रकाश करात ने भी न्यायिक जाँच की माँग की है प्रकाश करात ने मंगलवार को कहा कि जिस तेजी से भोपाल केंद्रीय कारागार से सिमी के  आठ आतंकवादियों के जेल से फरार होने और फिर मुठभेड़ में मारे जाने की खबर आई, उससे संदेह पैदा होता है और इसकी न्यायिक जांच होनी चाहिए।उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) की बजाय इस पुरे घटनाक्रम की न्यायिक जांच होनी चाहिए तथा सच जल्द से जल्द सबके सामने आना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *