प्रवचन के बहाने लड़कियों पर नजर, कुछ ऐसे ही सजता है पाखंड का बाज़ार

ढोंगी बाबाओ के मायाजाल का तिलिस्म

अभी गुरमीत राम रहीम के पाप की सज़ा सुनाई ही थी कि फिर एक बार हमारे सामने एक और बलात्कारी बाबा आ गया है। देश की राजधानी दिल्ली में हाल ही में ढोंगी बाबा वीरेंद्र देव दीक्षित की काली करतूतों के चिट्टे का खुलासा हुआ है। आखिर कब तक हमारे देश की बेटियाँ कभी शिक्षा, कभी आस्था तो कभी उपचार के नाम पर इन ढोंगी बाबाओं का शिकार बनते रहेगी।

प्रवचन के बहाने लड़कियों पर नजर ऐसे ही सजता है पाखंड का बाज़ार 

पहले आशाराम फिर गुरमीत राम रहीम और अब वीरेंद्र देव दीक्षित और न जाने ऐसे ही कितने और बेनाम ढोंगी बाबा हमारे देश में पनप रहे है। वीरेंद्र देव दीक्षित अपने कथा के प्रत्येक अध्याय में हमेशा लड़कियों के संदर्भ में कटुवचन व चरित्रहीन बाते ही करता था।
     एक एन.जी.यो की शिकायत पर हाई कोर्ट आदेशानुसार पुलिस ने दिल्ली में दो जगहों पर स्थित आध्यात्मिक विश्वविद्यालय पर छापा मारा रोहिणी में विजय नगर से 41 और उत्तम नगर से 21 लड़कियों को मुक्त कराया गया जिसमें नाबालिग भी शामिल है।

ऐसे ही सजता है पाखंड का बाज़ार 

मुक्त हुई लड़कियों ने बताया कि बाबा उन्हें नशीले पदार्थ देकर स्वयं को कृष्ण बताकर सम्बन्ध बनाने के लिए आकर्षित करता था।

हाई प्रोफाइल है बाबाओं के कॉन्टेक्ट्स क्या नेता  क्या अभिनेता और क्या उद्योगपति सभी है बाबाओं के भक्त 

   2014 के लोकसभा चुनाव में हमारे देश के प्रधानमंत्री मोदी जी ने कहा था कि 2019 के लोकसभा चुनाव आने से पहले वे इस देश की बेटियों की सुरक्षा की सूरत बदल देंगे। 2019 के चुनाव आने में केवल एक साल बाकी है लेकिन अभी तक इस देश की बेटियाँ सुरक्षित नहीं है। सबकुछ जानकर भी आखिर क्यों कोई ठोस कदम नही उठाये जाते और ऐसे ढोंगी बाबाओं के आश्रम पर ताला क्यों नहीं लगता।
मीनाक्षी ठाकुर
छात्रा: मास कॉम 
देहरादून

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Next Post

जाने कहाँ बिन बादल नाचा मोर

Thu Dec 28 , 2017
ये जो तस्वीरें आप देख रहे है ये नैशवि्ला रोड क्षेत्र का नज़ारा है जहाँ जल संस्थान की सुस्त हाली के चलते स्थानीय निवासियों के लिए मुश्किलें खड़ी हो गयी है रोज किसी न किसी दुपहिय्या वाहन का यहाँ गिरना आम बात हो गयी है। ‘भोर का तारा’ स्कूल के […]
%d bloggers like this: