‘ऑपरेशन सर्च’ शुरू, कड़ी सुरक्षा के बीच जांच दस्ता डेरे में दाखिल

0

चंडीगढ़। शुक्रवार को सुबह हाईकोर्ट द्वारा नियुक्त कोर्ट कमिश्नर रिटायर्ड जज एकेएस पंवार की अगुवाई में पूरी गहनता के साथ डेरा सच्‍चा सौदा में तलाशी अभियान शुरू हो जाएगा। इस सर्च ऑपरेशन में अर्द्ध सैनिक बलों और पुलिस की 50 टीमें शामिल की गई है। इसके अलावा 10 टीमों को रिजर्व रखा गया है।
सेना की चार कंपनियां डेरा के बाहर की सुरक्षा को संभाल रखा हैं। सर्च ऑपरेशन को लेकर अधिकारियां के साथ गुरूवार को पंवार ने बैठक कर रणनीति तैयार कर ली है। अधिकारियो द्वारा मिली जानकारी के अनुसार शुक्रवार सुबह से सर्च ऑपरेशन शुरू होगा। पुलिस और अर्द्ध सैनिक बलों के जवान बुलेटप्रूफ गाडि़यों से सीआरपीएफ जवानों की अगुआई करेगें। पूरी कार्रवाई की हेलीकाप्‍टर से नजर रखी भी जाएगी। सर्च ऑपरेशन नए और पुराने डेरा दोनों में चलेगा।
हाईकोर्ट द्वारा नियुक्‍त कोर्ट कमिश्‍नर एकेएस पंवार बृहस्‍पतिवार को दोपहर बाद सिरसा पहुंच गए थे। सिरसा पहुंचने के बाद उन्‍होंने प्रशासनिक और पुलिस अफसरों, अर्द्ध सैनिक बलों और सेना के अफसरों की बैठक ली। इन बैठकों में डेरा सच्‍चा सौदा में सर्च ऑपरेशन की रणनीति बनाई गई। सर्च अभियान के लिए 60 टीमें तैयार की गई हैं, जिनमें से 50 टीमें सर्च ऑपरेशन से जुड़ेंगी और 10 को वैकल्पिक के तौर पर रखा जाएगा। इसके अलावा पुलिस ने बुलेट प्रूफ गाडियों का इंतजाम किया है। सर्च अभियान में तीन एसपी और नौ डीएसपी भी शामिल होंगे। जरूरत पड़ने पर दो आइपीएस और सिरसा भेजे जा सकते हैं।
लोग हथियारों के साथ छिपे हो सकते है
पुलिस जानकारी के अनुसार डेरा के प्रबंधन से जुड़े 157 लोगों को हथियार के लाइसेंस मिले हुए है | जिन में से करीब 120 लोगों ने ही अपने हथियार पुलिस के पास जमा कराए है। इस को लेकर आशंका जताई गई है कि बाकी 37 लोग डेरे के भीतर कहीं भी छिपे हो सकते हैं। हालांकी डेरा प्रबंधन ने सर्च अभियान में हर तरह का सहयोग देने और डेरे के भीतर किसी हथियारबंद के नहीं होने का दावा किया है| इस समय सिरसा के डेरे पर अर्धसैनिक बलों की 48 कंपनियां तैनात हैं। बता दें कि हर कंपनी में 100 जवान होते हैं।
जमीन से कुछ भी ढूंढ निकालेंगे
हरियाणा पुलिस व अर्द्धसैनिक बलों ने सर्च अभियान के तहत ऐसी तैयारी कर ली है कि यदि जमीन के भीतर कुछ विस्फोटक या नरकंकाल होंगें तो उन्हें भी खोज लिया जाएगा। इसके लिए विशेष प्रशिक्षित स्टाफ व बम निरोधक दस्ते से जुड़े उपकरण मंगवाए गए हैं।
सेना की चार कंपनियां रखी है रिजर्व
सिरसा में सेना की चार कम्पनिया अभी भी तैनात रखी गई है। इन्हें डेरा की तलाशी में शामिल नहीं किया गया है। किसी तरह की मुसीबत में इन्हें इस्तेमाल किया जाएगा। सीआरपीएफ एसएसबी की टुकडिय़ों को भी डेरे के पास तैनात किया जा चुका है।
सारे गैस सिलेंडर निकाले डेरा से बाहर
तलाशी अभियान शुरू होने से पहले डेरा सच्चा सौदा के सारे गैस सिलेंडर हटाए गए। प्रशासन के आदेश के बाद डीएफएससी की टीम डेरा सच्चा सौदा पहुंची और डेरे से गैस सिलेंडर बाहर निकालने का काम शुरू किया। डेरे में 150 से अधिक गैस सिलेंडर होने की सूचना प्रशासन के पास पहुंची थी।
सर्च अभियान के लिए बुलाए फोटोग्राफर व वीडियोग्राफर
पुलिस महानिदेशक बीएस संधू के अनुसार अर्द्ध सैनिक बलों, पुलिस, ड्यूटी मजिस्ट्रेट, राजस्व अधिकारी, कमांडो स्वैट, डॉग स्क्वायड और बम निरोधक दस्ते तैयार कर लिए गए हैं। पूरे सर्च अभियान की वीडियोग्राफी कराई जाएगी। इसके लिए 60 फोटोग्राफरों को बुलाया गया है। यह सर्च अभियान दिन और रात चलेगा।
22 लोहारों की टीम भी शामिल
डेरे में गुफा और कई गुप्त कमरे होने की चर्चा सालों से है। जिस को देखते हुए प्रशासन ने 60 लोहार की एक टीम बनाई है जिन में से एक एक लोहार प्रत्येक टुकड़ी में शामिल होंगा । जरूरत पड़ने पर डेरे के सभी गुप्त ताले तोड़े जाएंगे।
मीडिया को दूर रखने की है तैयारी
जिला प्रशासन डेरा के सर्च अभियान के दौरान मीडिया को अंदर नहीं जाने देगा, बल्कि उन्हें दोनों डेरों से दूर पुलिस नाकों पर रोक लिया जाएगा।
डेरा मुख्यालय से ‘कुछ’ मिलने पर संदेह
डेरा में कुछ खास मिलने की संभावना कम ही नजर आ रही है। यह इस लिए कहा जा रहा है क्योंकि डेरा प्रमुख को गिरफ्तार किए बहुत समय बीत चुका है और यहां से काफी कुछ इधर-उधर किया जा चुका हो सकता है।
गुरमीत का साम्राज्य सिरसा में 700 एकड़ में फैला है
सिरसा स्थित डेरा सच्चा सौदा मुख्यालय करीब 700 एकड़ में फैला है। कई संस्थान भी संचालित हैं। इस विशाल परिसर के अलावा बाहर भी कुछ संस्थान है। हरियाणा में डेरा मुख्यालय और अन्य डेरा व नाम चर्चा घर मिलाकर कुल 134 परिसर हैं।
प्रत्येक टीम के साथ एक गणमान्य
प्रशासन ने शहर से 60 ऐसे लोगों की सूची मांगी है, जो जांच के दौरान उपस्थित रह सकें। प्रशासनिक सूत्र बताते हैं कि प्रत्येक टीम के साथ एक गणमान्य की ड्यूटी लगाई जाएगी ताकि कार्य में पारदर्शिता रहे और कोई उंगली न उठा सके। इसमें यह ध्यान रखा गया कि डेरा विरोधी या डेरा समर्थक नहीं लिया जायेगा।
सिरसा में तैनात पुलिस व अर्द्ध सै‍निक बलों की कंपनियां
सीआरपीएफ 20, सशस्त्र सीमा बल 12, बीएसएफ 2, आरएएफ 2, आइटीबीपी 05,कमांडो स्वैट 1, बम निरोधक दस्ता 6,
इनके साथ हरियाणा पुलिस की भी पांच कंपनियां तैनात रहेंगी।
सरकार का सहयोग कर रहा डेरा : सीएम
”उम्मीद है कि सब कुछ ठीक रहेगा। डेरा सच्चा सौदा की तरफ से पूरा सहयोग किया जाएगा । सिरसा मुख्यालय के लोगों ने सरकार को पूरा सहयोग करने की बात कही है – मनोहर लाल, मुख्यमंत्री
‘हमने टीमें बना ली हैं। हम सर्च अभियान के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। पांच हजार जवान सर्च करेंगे, डेरे से जुड़े मामलों की जांच के लिए बनाई गई एसआइटी के प्रमुख पीके अग्रवाल इस अभियान पर पूरे तरीके से निगाह रखेंगे। कोर्ट कमिश्नर एकेएस पंवार के निर्देश मिलते ही सर्च अभियान शुरू कर दिया जाएगा’- बीएस संधू, डीजीपी
हम कानून का सम्मान करने वाले लोग : डेरा
‘हमें तलाशी लेने में किसी तरह की कोई आपत्ति नहीं है। हम जिला प्रशासन और सरकार को पूरा सहयोग कर रहे हैं। हम कानून और मर्यादा को मानने वाले लोग हैं’।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.