नमिता पंत बनीं सेना में अफसर, गर्व से चौड़ा हुआ पिता का सीना

पिथौरागढ़। उत्तराखंड के वित्त मंत्री प्रकाश पंत की बेटी नमिता पंत ने सेना की जेएजी ब्रांच (जज एडवोकेट जनरल) में आर्मी अफसर बनकर प्रदेश का नाम रोशन किया है। जिसके बाद से उनके हौसलों को काफी सराहा जा रहा है। करीब सालभर की ट्रेनिंग के बाद शनिवार यानि आज चेन्नई में पासिंग आउट के दौरान उन्हें सेना के स्टार लगाए गए।

नमिता पंत को मिली आर्मी अफसर की उपाधि

नमिता पंत ने शनिवार को चेन्नई के ऑफिसर ट्रेनिंग एकेडमी में आर्मी अफसर की उपाधि ली। इस दौरान नमिता के पिता प्रकाश पंत, मां चन्द्रा पंत, दादा मोहन चन्द्र पंत, ताउ जी कैलाश पंत और चाचा भूपेन्द्र पंत आदि परिवार के सभी लोग मौजूद रहे।
उत्तराखंड से केवल नमिता ने किया था क्वालिफाई
पिथौरागढ़ खड़कोट निवासी उत्तराखंड के वित्त मंत्री प्रकाश पंच की सबसे बड़ी बेटी नमिता पंत ने 2012 में एलएलबी के बाद 2016 में एलएलएम किया। इसके बाद इंदौर में एसएसबी क्वालिफाई किया। पूरे देश से सिर्फ चार लड़कियों ने एसएसबी क्वालिफाई किया था। इसमें उत्तराखंड से सिर्फ नमिता का चयन हुआ है।
ऑफिसर ट्रेनिंग एकेडमी में बीएमटी में लिया प्रशिक्षण
इसके बाद उन्होंने एक साल तक चेन्नई के ऑफिसर ट्रेनिंग एकेडमी में बीएमटी (बेसिक मिलिट्री ट्रेनिंग) में प्रशिक्षण लिया। प्रशिक्षण के बाद नमिता को सेना के जेएजी ब्रांच में आर्मी अफसर की उपाधि दी गई है। इस दौरान नमिता ने कहा कि शुरू से ही उनकी तमन्ना सेना में जाने की थी जो आज पूरी हो गई है। उन्होंने कहा कि परिवार की मदद और उनकी कड़ी मेहनत से ही यह मुकाम हासिल हुआ है। इस मुकाम को हासिल करने के बाद उनके खड़कोट मोहल्ले स्थित आवास पर लोगों की भीड़ इकट्ठी होनी शुरू हो गई।
जज एडवोकेट जनरल की मिली उपाधि
नमिता को सेना में जेएजी ब्रांच जज एडवोकेट जनरल में आर्मी अफसर की उपाधि मिली है। देश के गिने चुने नेताओं के बच्चे ही देश रक्षा में तैनात आर्मी में है। ऐसे में उत्तराखण्ड के वित्त मंत्री प्रकाश पन्त की पुत्री ने आर्मी को ज्वाइंन कर युवाओं को एक नई राह दी है। वहीं महिलाओं को भी सशक्तिकरण का संदेश दिया है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Next Post

13 अक्टूबर को देहरादून पहुंचेगी भारत यात्रा

Sat Sep 9 , 2017
देहरादून। कैलाश सत्यार्थी चिल्ड्रंस फाउंडेशन ने घोषणा की है कि नोबल पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी द्वारा बाल यौन शोषण तथा तस्करी के खिलाफ लडऩे के लिए शुरु की गई भारत यात्रा 13 अक्टूबर को देहरादून पहुंचेगी। देहरादून में नोबल पुरस्कार विजेता का 13 अक्टूबर को स्वागत किया जाएगा और यहां […]
%d bloggers like this: