मुकदमा लड़ते-लड़ते लव हो गया

0

अधिवक्ता से प्रेम सम्बंध में निराश महिला ने कलेक्ट्रेट पर हाथ की नस काटी
पहले पति से अनबन के बाद दूसरे से भी नहीं बनी विवाहिता की

अबु मुअज्ज्म दानिश
बरेली। मुकदमा लड़ते -लड़ते एक अधिवक्ता से लव हो गया इससे भी अनबन होने पर क्षुब्ध महिला ने कलेक्ट्रेट पहुंचकर रोष जताते हुए नस काट ली। जिससे हड़कम्प मच गया। मौके पर पहुंची पुलिस ने महिला को थाने भेज दिया। जहां उसका मेडिकल कराया गया। इस विवाहिता ने मामले की तहरीर कोतवाली में दी है और अधिवक्ता को आरोपित किया है। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। पहले पति से विवाद का मुकदमा लड़ने के दौरान ही वकील से इस विवाहिता की आॅख मिचैली हो गयी और बात आगे तक बढ़ गयी। लेकिन इस विवाहिता की दूसरे कथित अधिवक्ता पति से भी नहीं बन सकी।
थाना कोतवाली के कलेक्ट्र पर आज अचानक एक महिला पहुँची जिसने शोर मचाते हुए हाथ की नस काट ली। इसको लेकर कलेक्ट्रेट पर हड़कम्प मच गया बड़ी संख्या में लोग जामा हो गये। गेट पर मौजूद पुलिस कर्मियों ने उत्तेजित महिला को किसी तरह काबू में किया और थाना कोतवाली को सूचित कर दिया। जानकारी मिलते ही चीता मोबाइल,100डायल व महिला थाना पुलिस मौके पर पहुंच गयी। यहां से महिला को महिला थाने ले जाया गया। इसके बाद मामला कोतवाली पुलिस के सुपुर्द कर दिया गया। कोतवाली पुलिस ने इस महिला का मेडिकल कराया जिसने अपने पहले पति व अधिवक्ता के खिलाफ थाने में तहरीर दी। प्रेमनगर के राजेन्द्रनगर निवासी महिला ने तहरीर देते हुए बताया है कि वर्ष 2004 में मेरा विवाह आगरा के रहने वाले व्यक्ति से हुआ था। कुछ ही दिनों के बाद दहेज के कारण उत्पीड़न किया तब मैने ससुराल छोड़ और मायके आ गयी। यहां कोर्ट में मैने 125 के तहत हर्जे ,खर्चे का दावा पारिवारिक न्यायालय में किया और महिला दहेज उत्पीड़न का मुकदमा भी लिखाया। जिसका केस एक अधिवक्ता द्वारा लड़ा जा रहा था। यहां उस अधिवक्ता से मेरा लिविंग रिलेशन हो गया। कुछ दिन तक तो सब सही रहा लेकिन बाद में उसने भी उत्पीड़न शुरू कर दिया और मुझे प्रताड़ित कर धमका रहा है इस अधिवक्ता के खिलाफ भी थाने में तहरीर दी है और आरोपित किया हैं जिसका चैम्बर नम्बर और नाम पता भी खोला है। लेकिन समाचार लिखे जाने तक यह अभियोग पंजीकृत नहीं हो सका था।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.