जानें क्यों दे रहा है यू एस इस भारतीय लड़के को 1.20 कऱोड रुपए का वेतन




ऑनलाइन डेस्क जयपुर के रहने वाले मोनार्क शर्मा को यूएस आर्मी के एच-64ई कॉम्बेट फाइटर हेलीकॉप्टर यूनिट में बतौर सांइटिस्ट नौकरी मिली है। जिसका हेडक्वाटर फोर्ट हूडटेक्सास में है।मोनार्क ने भारत के जयपुर पिंकसिटी में सी-स्कीम स्थित भगवान महावीर जैन स्कूल से पढ़ाई की है। जिसके बाद की पढ़ाई उन्होंने जयपुर नेशनल यूनिवर्सिटी से इलेक्ट्रनिक्स और कम्यूनिकेशन में बैचलर डिग्री प्राप्त कर की है। गौरतलब है कि नासा के मून बग्गी औऱ लूना बोट जैसे प्रोजेक्ट में मोनार्क ने अपना अहम योगदान दिया था। मून बग्गी प्रोजेक्ट ने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन का अवॉर्ड जीता था।




मोनार्क को यू एस आर्मी में बतौर साइंटिस्ट 1.20 करोड़ रुपए का वेतन मिलेगा।

अमेरिकी सेना में शामिल किए गए फाइटर प्लेन की डिजाइनिंग, निरीक्षण, निर्माण और रखरखाव में मोनार्क अहम भूमिका निभाएंगे।एक अंग्रेजी अखबार की ख़बर के मुताबिक मोनार्क ने साल 2013 में जूनियर रिसर्च साइंटिस्ट की हैसियत से नासा में मास कम्यूनिकेशन विंग ज्वाइन किया था। इसके बाद मई 2016 में उन्होंने यूएस आर्मी ज्वाइन की।



मोनार्क की मेहनत को देखते हुए उन्हें डिजाइनिंग और रिसर्च के लिए दो अवार्ड मिले। साल 2016 में मोनार्क शर्मा को आर्मी सर्विस मेडल और सेफ्टी एक्सिलेंस अवॉर्ड से नवाजा गया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *