आपको ये तो याद होगा कि मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल के मुंह पे पूरी पब्लिक के सामने एक जोरदार तमाचा पड़ा था। उस व्यक्ति को जेल भेज दिया गया था, और उस व्यक्ति ने जेल से बाहर आकर जो बोला उस बात ने तो केजरीवाल का और भी बड़ा वाला मजाक बन गया।

क्या कहा थप्पड़ मारने वाले व्यक्ति ने

” मुझे  खुद भी नहीं पता कि मैंने ऐसा क्यों किया, पता नहीं ये कैसे हो गया। अचानक दिमाग में कुछ हुआ और फिर गाड़ी पर चढ़ कर मैंने खप्पड़ मार दिया ” -: सुरेश

4 मई को दिल्ली में रैली के दौरान सीएम केजरीवाल को थप्पड़ मारने वाले सुरेश को पहले वहां मौजूद लोगों ने जम के पीटा और फिर पुलिस के हवाले कर दिया। अब वो जेल से बाहर आ गया है और बाहर आते ही उसने बिना थप्पड़ मारे केजरीवााल को और भी बड़ी चोट दे दी।

फिर दोबारा हंसते हुए सुरेश क्या कहते हैं-

मुझे थप्पड़ मारने का बहुत पछतावा है, मैं किसी भी पॉलिटिकल पार्टी से नहीं जुड़ा हूं, और ना ही किसी ने मुझको ये करने को कहा । पुलिस ने भी मेरे साथ बुरा बर्ताव नहीं किया, उन्होंने बस मुझे कहा कि मैंने गलत किया।

इस घटना के बाद आप पार्टी के नेताओं ने क्या किया –

आप पार्टी के नेता इसके बाद बीजेपी पर गंभीर आरोप लगाने लगे-:

क्या मोदी और अमित शाह अब केजरीवाल की हत्या करवाना चाहते हैं ? क्या मोदी और अमित शाह अब केजरीवाल की हत्या करवाना चाहते हैं ? 5 साल सारी ताकत लगाकर जिसका मनोबल नहीं तोड़ सके, चुनाव में नहीं हरा सके, अब उसे रास्ते से इस तरह हटाना चाहते हो कायरो! ये केजरीवाल ही तुम्हारा काल है। ये बात सुनने में बहुत फनी लगेगी लेकिन वो भी तो आखिर नेता ही हैं।

केजरीवाल क्या कहते हैं-

” दिल्ली के मुख्यमंत्री की सुरक्षा मोदी सरकार के अधीन है, लेकिन मेरा ही जीवन सबसे असुरक्षित है। बार बार हमला और फिर पुलिस का रोना, क्या साजिश है इसके पीछे? हिम्मत है तो सामने आकर वार करो दूसरों को हथियार बनाकर नही।” इस  तरह से केजरीवाल ने मोदी जी को हमले के लिए जिम्मेदार ठहरा दिया।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.