मैं नहीं चाहता कि मेरा बेटा मेरी तरह बने: संजय दत्त

ऐक्टर संजय दत्त का कहना है कि वह नहीं चाहते कि उनका बेटा उनकी तरह बने। सुनील दत्त और नरगिस के बेटे संजय दत्त ने ड्रग्स से छुटकारा पाने के लिए एक लंबी लड़ाई लड़ी। वह अवैध हथियार घर में रखने के आरोप में जेल भी गए। इस सवाल पर कि एक पिता के तौर पर वह खुद को सुनील दत्त के साथ कैसे कंपेयर कर पाते हैं, संजय ने कहा कि मेरे पापा ने मुझे नॉर्मल बच्चों की तरह ही बढ़ा किया। मुझे बोर्डिंग स्कूल में भेजा गया था। मैं भी अपने बच्चों के साथ इसी तरह पेश आता हूं।एक इंटरव्यू में संजय ने कहा कि मैं उन्हें जीवन के मूल्य सिखाने की कोशिश करता हूं, उन्हें संस्कार देता हूं और सिखाता हूं कि अपने से बड़ों की इज्जत करनी चाहिए, भले ही वे नौकर क्यों न हों। मैं बस यही प्रार्थना करता हूं कि मेरा बेटा मेरी तरह न बने। मैं नहीं चाहता कि मेरे पिता जिस दर्द से गुजरे, वैसे मुझे भी गुजरना पड़े।सुनील और संजय दत्त ने एक साथ मुन्ना भाई एमबीबीएस में काम किया। संजय ने अपनी मां के बारे में कहा कि उन्होंने अपने बेटे में कोई बुराी नहीं देखी। हर मां ऐसी ही होती है, वे अपने बच्चों में कोई बुराई नहीं देखतीं। गैरतलब है कि संजय इन दिनों अपनी फिल्म भूमि के प्रमोशन में व्यस्त हैं। संजय दत्त और अदिती राव हैदरी की फिल्म ‘भूमि’ बाप-बेटी के रिश्ते पर आधारित है। इसमें सस्पेंस और ऐक्शन के साथ-साथ इमोशन भी कूट-कूटकर भरा गया है। यह फिल्म 22 सितंबर को रिलीज होगी।

%d bloggers like this: