रूस की राजधानी माॅस्को के हवाईअड्डे पर रविवार 5 मई को सुखोई सुपरजेट विमान में विस्फोट हो जाने के कारण 41 लोगों की मौत हो गई। यह विमान मरमांस्क से मॉस्को आ रहा था, विमान में कुछ खराबी आ जाने के कारण वह हवाईअड्डे पर आपात लैंडिंग कर रहा था जिसके दौरान उसमें अचानक से आग लग गई और विस्फोट हो गया।

ब्रिटिश अखबार ‘द मेल’ ने बताया गया है कि कम से कम 41 लोगों की मौत हुई है, जिनमें एक एयरहोस्टेस भी शामिल हैं। वह यात्रियों को बचाने की कोशिश में आग का शिकार हो गई। साथ ही अखबार ने यह भी कहा कि हादसे में अगर लोग जिंदा बचे हैं तो वह किसी चमत्कार से कम नहीं है, क्योंकि विमान में 78 लोग सवार थे।
हवाई जहाज जब इमरजेंसी लैंडिंग कर रहा था, तभी उसके पिछले हिस्से से धुआं निकलने लगा। लिहाजा कुछ लोगों ने तुरंत मोबाइल कैमरा चला दिया, और जो वीडियो सामने आया है वो बेहद खौफनाक है।

जलते हुए जहाज में से उतारते लोगों की भगदड़ सी मची गयी थी।
पिछले साल भी हुआ था ऐसा ही हादसा
पिछले साल भी एक हवाई जहाज राजधानी मॉस्को के दोमोदेदोवो हवाई अड्डे से उड़ान भरने के 5 मिनट बाद ही दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। चालक दल के 6 सदस्यों समेत कुल 71 लोग सवार थे। इस दुर्घटना में सभी 71 लोगों की मौत हो गई थी।

 

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.