जानें क्या है लौकी के जूस की विशेषता 

gourd juice

                                                                                                   

क्षमता से ज्यादा काम और मानसिक तनाव के कारण कई लोगों को दिल से जुड़ी बीमारियां परेशान करने लगती हैं। इसलिए हर दिन कोई भी एक नया व्यक्ति दिल के रोग से पीड़ित हो जाता है। दिल से जुड़ी बड़ी बीमारियों का इलाज बायपास सर्जरी और एन्ज्योग्राफी से होता है। यदि आप इन रोगों से बचना चाहते हैं तो लौकी का रस आपकी बहुत मदद कर सकता है। यदि आपको दिल से संबंधित कोई भी बीमारी हो तो लौकी का रस/जूस जरूर पिएं।

                             लौकी का जूस बनाने की विधि-

 

सबसे पहले लौकी को धो लें फिर उसे कद्दूकस कर लें। कद्दूकस की हुई लौकी में तुलसी के सात पत्ते और पुदीने की पांच पत्तियां डाल कर मिक्सर में पीस लें। रस की मात्रा कम से कम 150 ग्राम होनी चाहिए। अब इस रस में बराबर मात्रा में पानी मिलाकर तीन चार पिसी काली मिर्च और थोड़ा सा सेंधा नमक मिलाकर पिएं।

 

                                 जूस को पीने की विधि-

 

 यह रस किसी भी दिल के मरीज को दिन में तीन बार सुबह, दोपहर और शाम को खाने के बाद पिलाना चाहिए। शुरूआत के दिनों में रस कुछ कम मात्रा में लें और जैसे ही वह अच्छे से पचने लगे इसकी मात्रा बढ़ा दें।

                               लौकी जूस की विशेष-

 लौकी का रस पेट के विकारों को मल के द्वारा बाहर निकाल देता है। जिसके कारण शुरूआत में पेट में गड़गड़ाहट और खलबली मच सकती है, इससे घबराएं नहीं कुछ समय बाद यह अपने आप ठीक हो जाएगा। इस रस को पीने के साथ मरीज का अपनी पहले से चल रही दवाईयों को भी चालू रखना चाहिए।

Read More

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Next Post

𝐿❀❀𝓀 A𝒽𝑒𝒶𝒹 A𝓃𝒹 N𝑒𝓋𝑒𝓇 D𝑒𝓈𝓅𝒶𝒾𝓇

Tue Mar 31 , 2020
                                     🎀 𝐿❀❀𝓀 A𝒽𝑒𝒶𝒹 A𝓃𝒹 N𝑒𝓋𝑒𝓇 D𝑒𝓈𝓅𝒶𝒾𝓇 🎀   𝕀𝕟 𝕥𝕙𝕚𝕤 𝕚𝕤𝕠𝕝𝕒𝕥𝕚𝕠𝕟 𝕒𝕟𝕕 𝕤𝕚𝕝𝕖𝕟𝕔𝕖 𝕙𝕖𝕝𝕡 𝕞𝕖 𝕟𝕠𝕥 𝕥𝕠 𝕕𝕖𝕤𝕡𝕒𝕚𝕣 𝔽𝕠𝕣 𝕚 𝕜𝕟𝕠𝕨, 𝕚 𝕒𝕞 𝕟𝕠𝕥 𝕒𝕝𝕠𝕟𝕖 𝕔𝕠𝕫 𝕪𝕠𝕦 𝕒𝕣𝕖 𝕒𝕝𝕨𝕒𝕪𝕤 𝕖𝕧𝕖𝕣𝕪𝕨𝕙𝕖𝕣𝕖 𝕂𝕖𝕖𝕡 𝕞𝕖 […]
%d bloggers like this: