हड़ताल की तैयारियों को अंतिम रूप दिया

0

देहरादून। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह जिस समय दून में होंगे, उस समय प्रदेश भर के निगम, निकाय, पंचायत कर्मचारी हड़ताल पर रहेंगे। सातवें वेतनमान की मांग को लेकर राज्य निगम, निकाय, जल संस्थान, विकास प्राधिकरण, पंचायत कर्मचारी महासंघ ने 19 सितंबर को हड़ताल का ऐलान किया है। कर्मचारियों की हड़ताल को लेकर सरकारी अमला असहज स्थिति में है। हड़ताल समाप्त कराने को लेकर मुख्य सचिव एस रामास्वामी की ओर से भी महासंघ को वार्ता के लिए बुलाया गया था, पर बात नहीं बनी। महासंघ पदाधिकारियों ने रविवार को हड़ताल की तैयारियों को अंतिम रूप दिया। रोडवेज वर्कशॉप में हुई बैठक में अध्यक्ष संतोष रावत, महासचिव रवि पचौरी ने कहा कि हड़ताल से पैदा होने वाले विषम हालात के लिए सीधे तौर पर सरकार जिम्मेदार रहेगी। पहले चरण में एक दिवसीय हड़ताल व दूसरे चरण में अनिश्चितकालीन हड़ताल होगी। बैठक में कर्मचारी नेता गजेंद्र कपिल, प्रवीन रावत, एसपी पंत, हरदेव रावत, रविंद्र भगत, महावीर सिंह राणा, रमेश बिंजौला, विजय खाली, हरीश चंद्र पांडे, गिरीश जोशी, अजयकांत शर्मा, कृष्ण रतूड़ी, ललित शर्मा, रमेश प्रसाद, सुदेश कुमार, बालेश कुमार, धन सिंह, गिरीश नैथानी, अशोक शर्मा, चंद्रपाल बिष्ट, दिलीप रावत, रामकिशोर, संदीप मल्होत्रा, भोला जोशी, मोहन रावत, आनंद कुकरेती, इंद्रपाल, सुनील कुमार, हरी सिंह, विजय सिंह, धर्मवीर तनेजा आदि मौजूद रहे। पानी, सफाई व्यवस्था पर पड़ेगा असर देहरादून। हड़ताल का सीधा असर पेयजल सप्लाई पर पड़ेगा। निकाय कर्मचारियों के हड़ताल में शामिल होने से सफाई व्यवस्था को संभालने में भी दिक्कत पेश आएगी। प्रबंधन की अपील, पानी भर कर रखे जनता देहरादून। पानी की होने वाली संभावित परेशानी को देखते हुए मुख्य महाप्रबंधक जल संस्थान एसके गुप्ता ने जनता से अतिरिक्त भंडारण की अपील की है। कहा कि 18 सितंबर की मध्य रात्रि से कर्मचारी हड़ताल पर चले जाएंगे। इससे 19 सितंबर की सुबह पानी सप्लाई की दिक्कत रहेगी। कहा कि प्रबंधन की ओर से पेयजल भंडारण की पूरी व्यवस्था की जा रही है, इसके बावजूद भी जनता से अतिरिक्त सावधानी बरतने की अपील की जा रही है। सीएम आवास पर भी काम नहीं करेंगे कर्मचारी देहरादून। जीएमवीएन, केएमवीएन संयुक्त कर्मचारी महासंघ महासचिव एसपी पंत ने कहा कि सीएम आवास, मुख्य सचिव कार्यालय, सचिवालय कैंटीन के कर्मचारी भी हड़ताल पर रहेंगे। इसके साथ ही प्रदेश भर के गेस्ट हाउस, रेस्तरां, होटल, गैस एजेंसी पर भी हड़ताल रहेगी।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.