हंस फाउण्डेशन के सहयोग से चलेगी उत्तराखंड के स्कूलों में अक्षय पात्र योजना

देहरादून। प्रदेश के विद्यालयी शिक्षा मंत्री अरविन्द पाण्डेय ने शिक्षा विभाग की समीक्षा बैठक ली। बैठक में शिक्षा मंत्री की पहल पर हंस फाउण्डेशन द्वारा शिक्षा में सहयोग की पेशकश की गई। बैठक में उपस्थित हंस फाउण्डेशन के प्रतिनिधि अधिकारी को शिक्षा मंत्री द्वारा मध्याह्न भोजन योजना में प्रदेश के 4 जनपदों हरिद्वार, ऊधमसिंह नगर, देहरादून तथा नैनीताल में फाउण्डेशन द्वारा वृन्दावन में संचालित अक्षय पात्र योजना यहॉ भी संचालित करने की अपेक्षा की। ज्ञातव्य है कि शिक्षा मंत्री की पेशकश यह योजना फाउण्डेशन द्वारा उपरोक्त जनपदों में कुल व्यय का मात्र 10 प्रतिशत अंशदान पर उपलब्ध करायी जायेगी। उन्होंने कहा कि मध्याह्न भोजन में कार्यरत भोजन माताओं की सेवाएँ यथावत चलती रहेंगी। उनका कहना था, कि अध्यापकों को मध्याह्न भोजन के कार्य से पूर्णतया मुक्त रखा जायेगा। अध्यापकों की सेवाएॅं शत-प्रतिशत अध्यापन कार्य में ही उपयोग की जायेंगी ताकि शिक्षा गुणवत्ता बेहतर हो और छात्रों तथा अभिभावकों में सरकारी स्कूलों के प्रति और अधिक रूझान हो। उन्होंने दूरभाष पर फाउण्डेशन के मुख्य कार्यकारी अधिकारी के साथ आगामी 9 अप्रैल को भेंट का समय भी तय किया।

उन्होंने हंस फाउण्डेशन के प्रतिनिधि से एक वर्ष में 1500 विद्यालयों को फर्नीचर व्यवस्था से सुसज्जित करने की रणनीति के तहत कार्य करने की अपेक्षा की तथा 500 विद्यालयों में फर्नीचर व्यवस्था सुनिश्चित कराने का लक्ष्य शिक्षा विभाग को दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *