EVM मामले पर चुनाव आयोग सख्त, 19 अधिकारियों पर गिरी तबादलों की गाज़।

मध्य प्रदेश के भिंड जिले में VVPAT मशीन की जांच के दौरान केवल बीजेपी के निशान वाली पर्चियां निकलने के मामले में चुनाव आयोग ने कलेक्टर और एसपी सहित 19 अधिकारियों का तबादला कर दिया है।

आपको बता दें कि दिल्ली के मुख्यमंत्री मशीन में गड़बड़ी की शिकायत लेकर चुनाव आयोग पहुंचे थे।टीवी रिपोर्ट्स के मुताबिक चुनाव आयोग ने भिंड के कलेक्टर, एसपी सहित 19 अधिकारियों का ट्रांसफर कर दिया है। गौरतलब है कि भिंड में अगले सप्ताह विधानसभा उपचुनाव होना है।
बीते शुक्रवार को कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया गया कि ईवीएम डेमो में किसी भी बटन को दबाने पर बीजेपी की ही पर्ची निकली।हालाँकि सूत्रों की माने तो दो बटन्स पर एक ही पर्ची निकली तीसरी पर वह ठीक ही निकली और रिपोर्ट में यह भी दावा किया गया कि मध्यप्रदेश की मुख्य चुनाव अधिकारी सलीना सिंह ने पत्रकारों को यह खबर छापने पर पुलिस थाने में हिरासत में रखने की चेतावनी दी। शनिवार को इस मुद्दे पर खूब हंगामा हुआ। कांग्रेस और आम आदमी पार्टी ने चुनाव आयोग से शिकायत की और आगे से सभी चुनाव ईवीएम की बजाय बैलेट पेपर से ही कराने की मांग की।
इसके बाद चुनाव आयोग के एक प्रवक्ता ने कहा, ‘हमने जिला निर्वाचन अधिकारियों से विस्तृत रिपोर्ट मांगी है।’ VVPAT एक ऐसी मशीन होती है जिससे निकली पर्ची यह दिखाती है कि मतदाता ने किस पार्टी को वोट दिया है। मतदाता केवल सात सेकंड तक इस पर्ची को देख सकता है इसके बाद यह एक डिब्बे में गिर जाती है और मतदाता इसे अपने साथ नहीं ले जा सकता।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *