इस डॉक्टर ने अपनी इमेज के लिए मरीजो के साथ ऐसा क्यूँ किया जानिए –

 

डॉक्टर को भगवान का दर्जा दिय गया है लेकिन कब किसके मन का शैतान जाग जाये ये कौन जानता है?

अब आप ही बताइए की अगर हम खुद आग लगाकर उसको बुझा रहे हैं और लोगो से साबासी ले रहे हैं तो हम क्या कहलायेंगे, लोग हमें चाहे जो भी कहें लेकिन हम अपनी नज़र मे दिमागी तौर पर बीमार ही साबित होंगे ! लोगों से प्रशंसा करवाने के लिए ये इन्सान क़त्ल की हद तक चला गया, बात फ्रांस की है

जानिए आखिर हुआ क्या:

फ़्रांस मे एक हॉस्पिटल के एनेस्थियोलॉजिस्ट फ्रेडरिक पीचर को फ़्रांस पुलिस ने गिरफ़्तार किया है फ़िलहाल तो इन महाशय पे 42 मेडिकल दुर्घटनाओं के लिए केस दर्ज किया गया है, ये मौतें उन 17 सालों के दौरान हुईं जिनमें पीचर अलग-अलग अस्पतालों में काम करता था. पुलिस को पीचर पर 2017 में हुई दो मौतों में शामिल होने का भी शक है.

# आख़िर जनाब करते क्या थे ?

आमतौर पर जब आप अस्पताल जाते हैं तो डॉक्टर के साथ काम करने के लिए एक अलग टेक्नीकल स्टाफ भी देखते होंगे और एक  एनेस्थियोलॉजिस्ट भी इसी स्टाफ के अंतर्गत होता है इसका काम ऑपरेशन के टाइम मरीज को बेहोश करना होता है तो यही काम था फ्रेडरिक पीचर का. लेकिन वो एनेस्थीसिया के लिए लगाई जाने वाली दव से छेड़खानी करने लगा था, वो उन दवा की बोतलों मे एक मात्रा ज़हर की मिला देता था जिस से मरीज की हालत बिगड़ जाती थी

ऑपरेशन कैसा भी हो लेकिन पहले मरीज को बेहोश किया जाता है


# अब आते हैं आगे की बातों के ऊपर –

अब मरीज की हालत खराब होने पर पिचर को बुलाया जाता था क्यूंकि उसके किये काम की जानकारी उसके अलावा किसी को नहीं होती थी और इसके बाद आकर वो जल्दी से जाकर मरीज को बचा लेता था, अधिकांश केसों मे मरीज बच जाता था लेकिन कभी कभी कुछ मरीज कमजोरी की वजह से झेल नहीं पाते थे और मर जाते थे, उसको लगता था कि ऐसे मे सब जगह उसका नाम बनेगा पिचर की सारी रिपोर्ट्स पर उसके लिए बहुत अच्छा लिखा जाता था लेकिन किसी को ये नहीं पता था कि इस रिपोर्ट के लिए उसने कई मरीजों को मौत के घाट उतार दिया है

# अब इसके ऊपर पीचर क्या कहता है ?

पुलिस के पूछने पर वो अभी भी ये ही सोच रहा है कि उसने कुछ गलत नहीं किया है उसका कहना है कि उसे इसलिए मदद को बुलाया जाता था क्योंकि वो औरों से ज़्यादा टैलेंटेड है. और अब उसको इसीलिए परेशान किया जा रहा है.

कोई भी शैतान बन सकता है चाहे वो डॉक्टर ही क्यूँ ना हो…

# पीचर पर अब एक रोक लग गयी है –

2017 में जब ये मामला सामने आया था तभी से फ्रेडरिक पीचर की प्रैक्टिस पर रोक लगा दी गई थी हालांकि पीचर के वकील का कहना है कि इससे पीचर को बहुत ज़्यादा आर्थिक नुकसान उठाना पड़ा है अगर फ्रेडरिक पीचर पर ये आरोप साबित हो जाते हैं तो वो फ़्रांस के इतिहास का सबसे बड़ा ‘सीरियल किलर’ साबित होगा.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Next Post

एचडीएफसी की स्कॉलरशिप से जारी रहेगी अधूरी शिक्षा

Fri May 17 , 2019
 एचडीएफसी बैंक द्वारा आर्थिक परेशानियों का सामना कर रहे भारतीय मेधावी विद्यार्थियों को वित्तीय सहायता प्रदान करने की मुहिम शुरू हो रही है। “एचडीएफसी बैंक एजुकेशनल क्राइसिस स्कॉलरशिप सपोर्ट 2019” के तहत ऐसे विद्यार्थी जो किसी भी पारिवारिक संकट के चलते अपनी शिक्षा बीच में ही छोड़ने को मजबूर हैं […]
%d bloggers like this: