कोरोना इफेक्ट : चीन को छोड़ जल्द भारत आएँगी 1000 कंपनियाँ

PressMirchi App Logo Hindi
Advertisements
Loading...

कोरोना इफेक्ट : चीन को छोड़ जल्द भारत आएँगी 1000 कंपनियाँ

 

कोरोना वायरस की वजह से दुनिया भर की इकॉनमी दिन ब दिन ठप्प होती हुई नजर आ रही है। लेकिन ऐसे में भी भारत के लिए एक अच्छी खबर है। दरअसल, चीन में सक्रिय करीब 1000 कंपनियाँ अब भारतीय बाज़ार में मौके की तलाश कर रही हैं।

Loading...

मीडिया रिपोर्ट्स और सूत्रों के मुताबिक कोरोना वायरस के कारण चीन में विदेशी कंपनियों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे माहौल में लगभग 1000 विदेशी कंपनियाँ भारत में  खुद को स्थापित करने  की सोच रही हैं। इनमें से करीब 300 कंपनियाँ भारत में फैक्ट्री लगाने को लेकर पूरी तरह से मन बना चुकी हैं जिस संबंध में भारतीय सरकार के अधिकारियों से बातचीत भी चल रही है।

Loading...

केंद्र सरकार के एक अधिकारी ने इसकी जानकारी दी। अधिकारी के मुताबिक, “वर्तमान में लगभग 1000 कंपनियाँ विभिन्न स्तरों जैसे इन्वेस्टमेंट प्रमोशन सेल, सेंट्रल गवर्नमेंट डिपार्टमेंट्स और राज्य सरकारों के साथ बातचीत कर रही हैं। इन कंपनियों में से हमने 300 कंपनियों को लक्षित किया है।” अधिकारी का कहना है कि कोरोना वायरस के नियंत्रण में आने के बाद स्थिति हमारे लिए बेहतर होगी और भारत वैकल्पिक मैन्युफैक्चरिंग हब के रूप में उभरेगा।

Loading...

उन्होंने कहा, “हम इस बात को लेकर आशान्वित हैं कि एक बार जब कोरोना वायरस महामारी नियंत्रण में आ जाती है, हमारे लिए कई फलदायक चीजें सामने आएँगी और भारत वैकल्पिक मैन्युफैक्चरिंग गंतव्य के रूप में उभरेगा। जापान, अमेरिका तथा दक्षिण कोरिया जैसे कई देश चीन पर हद से ज्यादा निर्भर हैं और यह साफ दिख रहा रहा है।”

Loading...

बिजनेस टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक, लक्षित 300 कंपनियाँ मोबाइल, इलेक्ट्रॉनिक्स, मेडिकल डिवाइसेज, टेक्सटाइल्स और सिंथेटिक फैब्रिक्स के क्षेत्र में सक्रिय हैं और अब भारत में आना चाहती हैं। अगर सरकार की ओर से पॉजिटिव रिस्पॉन्स रहा तो यह चीन के लिए बड़ा झटका होगा। इसके साथ ही चीन के हाथों से मैन्युफैक्चरिंग हब का तमगा छिन जाने का खतरा मंडराने लगेगा।

Loading...
Digiprove sealCopyright secured by Digiprove © 2020 Press Mirchi
Loading...
All Rights Reserved

Loading...

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: