कोटद्वार सिद्धबली यूनिफॉर्म वाली दुकान में कस्टमर के साथ की गई अभद्रता और अपनी मनमानी से तय कर रहे हैं कपड़ों के मूल्य ! आजकल बच्चों की नई कक्षा में जाने के समय पर स्कूल, बुक सेलर्स और यूनिफॉर्म सेलर्स आपस में मिलकर अधिक मुनाफा कमाने की भिन्न-भिन्न प्रकार की योजना बनाते हैं, यह भी इन्हीं में से एक है।


अकसर दुकानदार लोग स्कूलों के साथ मिलकर किताबों व कपड़ों के मूल्यों में अपने मन से बढौत्तरी कर देते हैं तथा इसका मुनाफा वे लोग कमीशन के रूप में आपस में बांट लेते हैं। इसका खामियाजा अभिभावकों को भुगतना पड़ता है, क्योंकि पेरेंट्स तो अपने बच्चों का भविष्य बनाने के लिये मजबूर होते हैं।
अब आते हैं मुख्य मुद्दे पर, कोटद्वार सिद्धबली यूनिफॉर्म वाली दुकान के मालिक ने स्कूल ड्रेस के नाम पर एक अभिभावक के साथ अभद्रता की और गाली गलौच करते हुए उसे धक्का मारकर दुकान से बाहर निकाल दिया। ऐसे ही दुकानदार बाजार में ये बोलते फिरते हैं कि उपभोक्ता उनके लिये भगवान हैं।

कहीं कुछ बुरा तो कहीं कुछ अच्छा भी, देखें वीडियो….


इसके बाद पब्लिक ने उस दुकानदार को उसी की भाषा में जवाब दिया, और भीड़ में खड़ी कुछ महिलाओं ने उसे उसी की दुकान के सामने जमकर जलील किया। अंत में दुकानदार को माफी मांगनी पड़ी।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.