देहरादून। उत्तराखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष व विधायक प्रीतम सिंह ने कहा है कि प्रदेश में भाजपा के मंत्रियों एवं विधायकों में जिस प्रकार से हो रही सिरफुटव्वल के लिए मंत्रियों व विधायकों को धमकाने के लिए दो दिन के दौरे पर आये थे, उनका कहना है कि बंद कमरों में जो बैठकें की गई, वहां पर मंत्रियों व विधायकों को धमकाया गया। वहीं कांग्रेस सरकार में अवैध खनन रोकने के लिए माइनिंग सेल का गठन किया गया लेकिन भाजपा सरकार ने उसे भंग कर दिया, आज चारों ओर अवैध खनन हो रहा है। राजीव भवन कांग्रेस भवन में पत्रकारों से बातचीत करते हुए प्रीतम सिंह ने कहा है कि प्रदेश में भाजपा के मंत्रियों एवं विधायकों में जिस प्रकार से हो रही सिरफुटव्वल के लिए मंत्रियों व विधायकों को धमकाने के लिए दो दिन के दौरे पर आये थे, उनका कहना है कि बंद कमरों में जो बैठकें की गई, वहां पर मंत्रियों व विधायकों को धमकाया गया। उनका कहना है कि छह माह के कार्यकाल में कोई विकास नहीं हुआ है और बल्कि मेट्रो रेल का जो सपना कांग्रेस कार्यकाल में देखा गया और इसके लिए एमडी की तैनाती की गई, लेकिन भाजपा सरकार की कार्यगुजारियों से तंग आकर इस मेट्रो रेल परियोजना के एमडी ने इस्तीफा दे दिया।
उनका कहना है कि एमडी के इस्तीफे से कार्य की गति प्रभावित होगी। उनका कहना है कि लोकसभा चुनावों के समय जनता से लोक लुभावन वायदे किये गये लेकिन आज तक उन पर किसी भी प्रकार की कार्ययोजना तैयार नहीं की गई है और हर व्यक्ति के खाते में 15 लाख रूपये आयेंगें, कालाधन वापस लाया जायेगा पर आज भाजपा व केन्द्र सरकार पूरी तरह से मौन है और केवल जो उनका कहना नहीं मान रहे है, उनको सीबीआई, इडी एवं अन्य एजेंसियों के माध्यम से धमकाने का काम किया जा रहा है, जिसे सहन नहीं किया जायेगा और इसके लिए जनांदोलन किया जायेगा। गरीब व दलित व्यक्ति के घर खाना खाने से काम नहीं चलेगा, केन्द्र सरकार ने अब तक दलितों के हितों के लिए क्या किये है उस कार्य को जनता के समक्ष रखना चाहिए।
उनका कहना है कि नोटबंदी का असर गरीबों, व्यापारियों व छोटे छोटे ठेकेदारों पर पडा है और उसके बाद अब व्यापारियों पर जीएसटी को लाद दिया गया है, उनका कहना है कि इसी प्रकार से शराब की दुकानों को बंद करने के लिए आंदोलन कर रही महिलाओं पर मुकदमें दर्ज कर जेल भेजने का काम किया है और प्रदेश की शराब नीति माफियाओं को संरक्षण देने वाली है और मोबाइल वैन के जरिये घर घर शराब पहुंचाने का कार्य भाजपा की सरकार कर रही है। दस लाख हजार करोड़ रूपये उत्तराखंड को दिये है के सवाल पर उन्होंने कहा कि प्रदेश की सरकार धन का रोना रो रही है और यदि यह राशि आई है तो कहां गई, जिसका जवाब प्रदेश के मुखिया को देना होगा। डबल इंजन की सरकार छह माह में ही फेल हो गई है और डबल इंजन अलग अलग दूरी पर खडे है और जब आगे भी इंजन होगा और पीछे भी तो ट्रेन कैसे चलेगी। इस अवसर पर अनेक पदाधिकारी व कार्यकर्ता भी मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.