राष्ट्रपति के केदारनाथ आगमन को लेकर तैयारियों में प्रशासन

0
रुद्रप्रयाग। भारत के नवनियुक्त राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के केदारनाथ आगमन को लेकर तैयारियां पूरी कर ली गई है। शनिवार को दिनभर मौसम खराबी के बावजूद भी प्रशासन तैयारियों में जुटा रहा। एक तरफ राष्ट्रपति के केदारनाथ दौरे को लेकर प्रशासन धामों में व्यवस्थाएं जुटाने में लगा रहा, वहीं जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक भी अपनी ओर से व्यवस्थाओं का लगातार जायजा लेते रहे।
रविवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद बाबा केदारनाथ के दर्शन करेंगें। राष्ट्रपति आगमन की तैयारियों को लेकर जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक भी केदारनाथ में मौजूद हैं। डीएम मंगेश घिल्डियाल और पुलिस अधीक्षक पीएन मीणा भारी बारिश के बावजूद भी केदारनाथ में व्यवस्थाओं का जायजा लेते रहे और कर्मियों को ब्रीफ करते रहे। राष्ट्रपति श्री कोविंद 24 सितम्बर को सुबह 7 बजकर 25 मिनट पर एमआई 17 हेलीकप्टर से केदारनाथ हैलीपैड में लैडिंग करेंगे और 8 बजकर 35 मिनट पर गौचर के लिए रवाना होंगें। साथ ही राष्ट्रपति कोविंद इस दौरान केदारपुरी का भी जायजा लेंगें और फिर ल्वाणी गांव निवासी अपने तीर्थपुरोहित भगवती प्रसाद बगवाड़ी के साथ रूद्रमहाभिषेक व अन्य पूजाएं करेंगें।
इस मौके पर मंदिर समिति राष्ट्रपति को भगवान केदारनाथ की काष्ठ निर्मित प्रतिमूर्ति, स्थानीय मिठाई, रोट व अड़से भेंट करेगी और प्रशासन स्थानीय रिंगाल की टोकरी में स्थानीय उत्पादों से बने बाबा केदार के प्रसाद को भेंट करेगा। राष्ट्रपति के दौरे के दौरान 2013 की आपदा में हुई तबाही के गवाह के तौर पर धाम की थ्री लियर प्रोटेक्शन वल पर बन रही थ्रीडी पेंटिग को भी देखेंगे।
राष्ट्रपति की सुरक्षा के लिए हैलीपैडों को आरक्षित कर दिया गया है और अस्थाई व्यवस्था के लिए जाखधार स्थित चारधाम के हेलीपैड को भी आरक्षित किया गया है। 24 सितम्बर को केदारपुरी में नो फ्लाइंग जोन रहेगा और यह व्यवस्था तब तक जारी रहेगी जब तक राष्ट्रपति गौचर नहीं पहुंच जाते। सुरक्षा के लिहाज से धाम में जिलाधिकारी समेत 24 मजिस्ट्रेटों की तैनाती रहेगी। साथ ही एक एएसपी, दो एसपी,  6 सीओ, 10 इन्सपेक्टर, 20 एसआई, पांच महिला एसआई, 28 हेड कांस्टेबल व 450 पुलिस के जवान मौजूद हैं। जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने बताया कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के केदारपुरी आगमन को लेकर तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। शनिवार को पूरे दिनभर बारिश होने के बावजूद भी अधिकारी-कर्मचारी तैयारियों में जुटे रहे। उन्होंने बताया कि केदारनाथ मंदिर के चारों ओर बेरिकेटिंग की गई है, जिससे राष्ट्रपति के आगमन के दौरान कोई व्यक्ति भीतर न घुसे। उन्होंने कहा कि सुरक्षा के लिहाज से केदारपुरी को छावनी में तब्दील किया गया है।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.