उक्रांद संकल्प रैली निकाली

उक्रांद संकल्प रैली निकाली

देहरादून। उत्तराखंड क्रांति दल ने प्रदेश सरकार की जन विरोधी नीतियों एवं फैल रहे भ्रष्टाचार के खिलाफ राजधानी में संकल्प रैली निकालकर जनता को जागरूक करने का काम किया। इस अवसर पर वक्ताओं ने कहा कि भाजपा एवं कांग्रेस ने जनता को छलने का काम किया है, और अब क्षेत्रीय दल को मजबूत करने की जरूरत है और इसके लिए जनता को एकजुटता से कार्य करने के लिए आगे आकर संकल्प लेना होगा।हाथीबडकला स्थित सर्वे स्टेडियम में दल के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता केन्द्रीय अध्यक्ष पुष्पेश त्रिपाठी के नेतृत्व में एकत्रित हुए और वहां पर संकल्प रैली का समापन किया गया जिसे एक सभा के रूप में परिवर्तित किया गया। इस अवसर पर पुष्पेश त्रिपाठी ने कहा है कि आज प्रदेश की कांग्रेस सरकार की जन विरोधी नीतियों से जनता परेशान है और धरातल में किसी भी प्रकार के विकास कार्य नहीं हो पा रहे है, प्रदेश में भ्रष्टाचार चरम सीमा पर पफैल गया है और इस पर कोई भी सरकार नियंत्रण नहीं लगा पाई है। उन्होंने कहा कि राज्य बनने के बाद यहां पर ठोस कार्य नहीं हो पाये है और राज्य में गठित सरकारें राज्य का विकास करने में पूरी तरह से पफेल रही है। इस अवसर पर दल के संरक्षक बी डी रतूडी ने कहा है कि राज्य के आंदोलनकारी एवं राज्य की जनता को यह देखना होगा कि राज्य आज किस दिशा में जा रहा है और राज्य का विकास करने के लिए दल ही सक्षम है और दल के प्रत्याशियों को इस बार जनता को विधानसभा में चुनकर भेजना है जिससे राज्य का विकास शहीदों की भावना के अनुरूप किया जा सके। उन्होंने कहा कि लगातार संघर्ष करने के बाजवूद भी आज तक राज्य का विकासात्मक ढांचा नहीं हो पाया है और भाजपा एवं कांग्रेस ने प्रदेश को लूटने का कार्य किया है, जिसे अब सहन नहीं किया जायेगा। इस अवसर पर मसूरी विधानसभा क्षेत्र से दल के प्रत्याशी जयप्रकाश उपाध्याय ने कहा कि यदि वह विधानसभा पहंुचते है तो राज्य में निशुल्क बिजली, पानी, स्वास्थ्य सेवायें प्रदान की जायेगी ओर प्रत्येक परिवार के एक व्यक्ति को रोजगार प्रदान किया जायेगा। उन्होंने कहा कि राज्य आंदोलन के दौरान मुजफ्रपफरनगर, मसूरी, खटीमा आदि कांड्र के दोषियों को सख्त सजा दिये जाने की कार्यवाही सुनिश्चित की जायेगी और जनता को उनके अधिकार प्रदान किये जायेंगें। उन्होंने कहा कि मातृशक्ति की कुर्बानियों के फलस्वरूप बने इस राज्य में महिलाओं को रोजगार से जोडा जायेगा और प्रदेश में कार्यरत आंगनवाडी, आशा, भोजनमाता, कार्यकत्र्रियों को राज्य कर्मचारी घोषित कर उचित मानदेय की व्यवस्था सुनिश्चित की जायेगी। उन्होंने कहा कि राज्य में रोजगारपरक योजनाओं को संचालित करने का कार्य किया जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *